HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

Haryana State Board HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज Textbook Exercise Questions and Answers.

Haryana Board 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

HBSE 7th Class Hindi संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज Textbook Questions and Answers

भेंटवार्ता से

प्रश्न 1.
साक्षात्कार पढ़कर आपके मन में धनराज पिल्लै की कैसी छवि उभरती है? वर्णन कीजिए।
उत्तर:
साक्षात्कार पढ़कर हमारे मन में धनराज पिल्ले की जो छवि उभरती है, वह इस प्रकार है धनराज पिल्लै गरीबी में पला-बढ़ा एक स्वाभिमानी व्यक्ति है। उसने अपने जीवन में बहुत संघर्ष किया है। यह स्वयं को बहुत असुरक्षित अनुभव करता रहा है अतः उसके स्वभाव में तुनुकमिजाजी आ गई है। वह अपनी माँ तथा भाभी का बहुत सम्मान करता है। वह देश के लिए खेलने में गर्व का अनुभव करता है। पहले वह अपने रंग-रूप को लेकर हीन भावना का शिकार था, पर अब वह इससे उबर चुका है।

प्रश्न 2.
धनराज पिल्लै ने जमीन से उठकर आसमान का सितारा बनने तक का सफर तय किया है। लगभग सौ शब्दों में इस सफर का वर्णन कीजिए।
उत्तर:
धनराज पिल्ले ने जमीन से उठकर आसमान का सितारा बनने तक का सफर धैर्यपूर्वक संपन्न किया है। उनका जन्म पुणे की तंग गलियों में हुआ। उनका परिवार बहुत गरीब था अत: उनका बचपन मुश्किलों में बीता उन्हें हॉकी खेलने का शौक ता था, पर हांका की स्टिक खरीदने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे।

वे दोस्तों से स्टिक मांगकर खेलते थे। उन्हें अपनी पहली स्टिक अपने भाई से मिली। वे पढ़ने में भी फिसड्डी थे, पर हॉकी के शौक ने उन्हें जमीन से उठाकर आसमान की सितारा बना दिया। इस सफर में उन्हें जूनियर-सीनियर टीमों में खेलना पड़ा। उन्हें पहली कार महिंद्रा ग्रुप ने दी थी जो सेकंड हैंड थी।

अब तक हॉकी का -यह सितारा मुंबई की लोकल ट्रेनों तथा बसों में ही सफर करता था। बाद में उसने अपनी कमाई और लोन से फोर्ड आइकॉन कार खरीदी। हॉकी ने उन्हें काफी कुछ दिया। धन मिला, महाराष्ट्र सरकार ने पवई में एक फ्लैट दिया। वे लोगों में अत्याधिक लोकप्रिय हो गए। राष्ट्रपति से भी उन्हें मिलने का अवसर मिला। अनेक अभिनेताओं तथा अभिनेत्रियों ने उनके खेल की प्रशंसा की। इस प्रकार व आसमान का सितारा बन गए।

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

प्रश्न 3.
“मेरी माँ ने मुझे अपनी प्रसिद्धि को विनम्रता से सँभालने की सीख दी है”- धनराज पिल्लै की इस बात का क्या अर्थ है?
उत्तर:
धनराज पिल्लै की इस बात का यह अर्थ है कि उनकी माँ ने उन्हें विनम्र बने रहने के संस्कार दिए हैं। प्राय: लोग प्रसिद्धि में पगला जाते हैं और इसे सहज भाव से स्वीकार नहीं कर पाते। धनराज पिल्लै के व्यक्तित्व के निर्माण में उनकी माँ का बहुत बड़ा योगदान है और माँ ने उन्हें विनम्रता का संस्कार दिया है। वे अपनी माँ के प्रति बहुत सम्मान का भाव रखते हैं।

साक्षात्कार से आगे

प्रश्न 1.
ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता। क्यों? पता लगाइए।
उत्तर:
ध्यानचंद हॉकी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी थे। उनकी स्टिक से हॉकी की बाल करिश्मा कर दिखाती थी। उनके समय में भारत ने हॉकी का स्वर्णपदक कई बार जीता। सारा संसार उन्हें ‘हॉकी का जादूगर’ मानता था।

प्रश्न 2.
किन विशेषताओं के कारण हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल माना जाता है?
उत्तर:
हॉकी का खेल सारे भारत में खेला जाता है। यह सभी जगह अत्यंत लोकप्रिय है। भारत इस खेल में कई बार स्वर्ण पदक भी जीत चुका है। अत: इसे राष्ट्रीय खेल माना जाता है।

प्रश्न 3.
आप समाचार-पत्रों, पत्रिकाओं में छपे हुए साक्षात्कार पढ़ें और अपनी रुचि से किसी व्यक्ति को चुने, उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर कुछ प्रश्न तैयार करें और साक्षात्कार लें।
उत्तर:
यह काम विद्यार्थी स्वयं करें।

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

HBSE 7th Class Hindi संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज Important Questions and Answers

अति लघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
धनराज पिल्लै किस खेल के प्रसिद्ध खिलाड़ी हैं?
उत्तर:
धनराज पिल्लै हॉकी के प्रसिद्ध खिलाड़ी हैं।

प्रश्न 2.
साक्षात्कार से आप क्या समझते हैं?
उत्तर:
साक्षात्कार में एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के आमने-सामने बैठकर प्रश्नों द्वारा बातचीत करता है।

प्रश्न 3.
धनराज पढ़ाई में कैसे थे?
उत्तर:
धनराज पढ़ने में एकदम फिसइडी थे।

प्रश्न 4.
धनराज ने कृत्रिम घास पर सबसे पहले हॉकी कब खेली?
उत्तर:
1988 में जब वे राष्ट्रीय खेलों में भाग लेने नई दिल्ली आए।

प्रश्न 5.
धनराज की पहली कार कौन-सी थी?
उत्तर:
धनराज की पहली कार एक सेंकेंड हैंड महेन्द्रा अरमाड़ा थी।

प्रश्न 6.
धनराज को सबसे अधिक प्रेरणा किससे मिली?
उत्तर:
उन्हें सबसे अधिक प्रेरणा अपनी माँ से मिली।

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

लघुत्तरात्मक प्रश्न

प्रश्न 1.
धनराज का बचपन कैसा बीता?
उत्तर:
धनराज का बचपन बहुत गरीबी में बीता। उनका बचपन मुश्किलों से भरा था। उन्हें तथा उनके भाइयों के पालन-पोषण में उनकी माँ को भारी संघर्ष करना पड़ा था। धनराज हॉकी खेलने के लिए एक स्टिक तक नहीं खरीद पाते थे। वे पढ़ाई में भी फिसड्डी थे।

प्रश्न 2.
धनराज के व्यक्तित्व की क्या विशेषताएँ हैं?
उत्तर:
धनराज का व्यक्तित्व कुछ इस प्रकार का है कि वह कभी हमें हंसाता है तो कभी रुलाता है। वह कभी विस्मय से भर देता है तो कभी खीझ उत्पन्न करता है। उनके व्यक्तित्व में कई रंग और कई भाव हैं।

प्रश्न 3.
धनराज ने विधिवत् रूप से हॉकी खेलना कब शुरू किया?
उत्तर:
जब धनराज केवल 16 वर्ष के थे तभी उन्होंने 1985 में मणिपुर में जूनियर राष्ट्रीय हॉकी खेली। 1986 में उसे सीनियर टीम में डाल दिया गया। इसके एक साल बाद उन्हें ऑलविन एशिया कप के कैंप के लिए चुन लिया गया। तब से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

प्रश्न 4.
धनराज ने अपनी माँ के बारे में क्या कहा?
उत्तर:
धनराज ने कहा कि उन्हें सबसे अधिक प्रेरणा अपनी माँ से ही मिली। उन्होंने हम सब भाई-बहनों में अच्छे संस्कार डालने की कोशिश की। मैं उनके सबसे अधिक निकट हूँ। मैं कहीं भी हूँ, रात सोने से पहले माँ से बात अवश्य कर लेता हूँ।

प्रश्न 5.
अभिनेत्री रेखा ने धनराज को क्या बात कही?
उत्तर:
प्रसिद्ध अभिनेत्री रेखा ने धनराज को कहा- “यह कभी मत सोचना कि हॉकी खिलाड़ियों को कोई नहीं पहचानता। हम लोग बड़े चाव से तुम लोगों का खेल देखते हैं।”

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

प्रश्न 6.
व्यावसायिक खेल एक जुनून जैसा होता है। धनराज पिल्लै में ये जुनून कैसे पैदा हुआ होगा?
उत्तर:
जब कोई खिलाड़ी किसी खेल को व्यावसायिक मानकर खेलता है तब यह एक जुनून का रूप ले लेता है। वह हर समय उस खेल को खेलता रहना चाहता है। धनराज स्वयं को काला और बदसूरत मानते थे। उसे लड़कियाँ विशेष पसंद नहीं करती थीं। जब उसके बाकी साथी महिला मित्रों के साथ घूमने-फिरने जाते थे, तब उसे बहुत बुरा लगता था। वह हीन भावना का शिकार हो जाता था। इससे उबरने के लिए उसने 1986 से 1996 तक स्वयं को हॉकी के जुनून में डुबो दिया होगा।

संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज गद्यांशों पर आधारित अर्थग्रहण संबंधी प्रश्न

1. मैंने अपनी ……………. नहीं देखा।

अर्थग्रहण संबंधी प्रश्न :
1. धनराज ने अपनी जूनियर राष्ट्रीय हॉकी कब खेली? उस समय उनका शरीर कैसा था?
2. धनराज का व्यक्तित्व कैसा था?
3. 1986 में धनराज और उसके भाई ने क्या किया?
4. धनराज को किस बात से मायूसी हुई? यह कैसे खत्म हुई?
उत्तर:
1. धनराज ने अपनी जूनियर राष्ट्रीय हॉकी 1985 में मणिपुर में खेली। उस समय उनका शरीर बहुत दुबला-पतला था और चेहरा छोटे बच्चे जैसा था।
2. धनराज का व्यक्तित्व लड़ाकू का था। वे मैदान पर भी और मैदान से बाहर भी लड़ते थे। उनका दबदबा बना रहता था।
3. 1986 में धनराज और उनके बड़े भाई रमेश ने मुंबई लीग में श्रेष्ठ खेल खेला और खूब धूम मचाई।
4. धनराज को विश्वास था कि उन्हें 1988 के ओलंपिक कैप का बुलावा जरूर आएगा, पर 57 खिलाड़ियों की सूची में उनका नाम नहीं था। इससे उन्हें मायूसी हुई। यह मायूसी अगले साल ऑलविन एशिया कप के कैंप के चुनाव पर दूर हुई।

बहुविकल्पी प्रश्न सही उत्तर चुनकर लिखिए

1. जब धनराज ने अपनी पहली जूनियर राष्ट्रीय हॉकी खेली तब उनकी आयु कितनी थी?
(क) 14 वर्ष
(ख) 15 वर्ष
(ग) 16 वर्ष
(घ) 18 वर्ष
उत्तर:
(ग) 16 वर्ष

2. ‘लड़ाकू’ शब्द में किस प्रत्यय का प्रयोग है?
(क) लड्
(ख) डाकू
(ग) आकू
(घ) कू
उत्तर:
(ग) आकू

3. धनराज को किस बात से मायूसी हुई?
(क) 1988 के ओलंपिक के नेशनल कैंप से बुलावा न आने पर
(ख) एशियन कप के कैंप से बुलावा न आने पर
(ग) बेहतरीन न खेल पाने पर
(घ) 57 खिलाड़ियों की लिस्ट में नाम होने पर
उत्तर:
(क) 1988 के ओलंपिक के नेशनल कैंप से बुलावा न आने पर

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

2. मैं हमेशा ………………. नहीं होती।

अर्थग्रहण संबंधी प्रश्न :
1. किस बात का सम्बन्ध किससे है?
2. धनराज ने अपने स्वभाव के बारे में क्या सफाई दी?
3. वे अपनी तुनकमिजाजी का क्या कारण बताते हैं?
4. उनके व्यक्तित्व की क्या विशेषता है?
उत्तर:
1. विनीता पांडे ने पूछा था कि वे इतने तुनकमिजाज क्यों हैं तथा वे कभी-कभी हिंसक भी क्यों हो जाते हैं। इस बात का सम्बन्ध धनराज पिल्ले से है।
2. धनराज ने अपने स्वभाव के बारे में यह सफाई दी कि वे बचपन से हो स्वयं को असुरक्षित महसूस करते रहे हैं। उन्होंने अपनी माँ को बहुत संघर्ष करते देखा है।
3. उन्होंने अपनी तुनकमिजाजी का कारण यह बताया कि वे अपनी बात बिना लाग–लपेट के कहने वाले इंसान हैं। उनकी बुद्धि में जो आती है, उसे तुरंत कह डालते हैं। वे कई बार इसके लिए पछताते भी हैं।
4. उनके व्यक्तित्व की यह विशेषता है कि वे भावुक हैं और दूसरों की तकलीफ को नहीं देख सकते। वे अपने दोस्तों और परिवारजनों की बहुत इज्जत करते हैं। वे गलती होने पर माफी भी माँग लेते हैं।

बहुविकल्पी प्रश्न सही उत्तर चुनकर लिखिए

1. धनराज हमेशा से अपने आपको कैसा इंसान महसूस करते आए हैं?
(क) सुरक्षित
(ख) असुरक्षित
(ग) क्रोधी
(घ) अच्छा
उत्तर:
(ख) असुरक्षित

2. ‘जेहन’ शब्द कैसा है?
(क) तत्सम
(ख) तद्भव
(ग) देशज
(घ) विदेशी
उत्तर:
(ख) तद्भव

3. धनराज के स्वभाव में इनमें से क्या है?
(क) तुनकमिजाजी
(ख) भावुकता
(ग) चिड़चिड़ापन
(घ) ये सभी बातें
उत्तर:
(ग) चिड़चिड़ापन

4. धनराज किसकी कद्र करता है?
(क) परिवार की
(ख) दोस्तों की
(ग) माँ की
(घ) इन सभी की
उत्तर:
(घ) इन सभी की

3. कुछ रुपये ………………. हो पाती।

अर्थग्रहण संबंधी प्रश्न :
1. पहले खिलाड़ी को कितना इनाम मिलता था?
2 धनराज किसे अपनी पहली जिम्मेदारी मानते थे?
3. 1994 में खरीदा फ्लैट कैसा है?
4. बाद में उसे कहाँ और कैसा फ्लैट मिला?
उत्तर:
1. पहले खिलाड़ी को इनाम में बहुत थोड़े रुपये मिलते थे जबकि आज काफी मिलते हैं।
2 धनराज अपनी पहली जिम्मेदारी अपने परिवार की आर्थिक तंगी को दूर करना मानते थे। वे परिवार को बेहतर ज़िदगी देना चाहते थे।
3. खेलों की कमाई से धनराज ने 1994 में पुणे के भाऊ पाटिल रोड पर दो बेडरूम का एक छोटा-सा फ्लैट खरीदा। यह छोटा ज़रूर था, पर उनके परिवार के लिए काफी था।
4. बाद में महाराष्ट्र सरकार ने उसे पवई में एक अच्छा पलेट दिया। यह फ्लैट उनकी हैसियत से बढ़ कर है।

बहुविकल्पी प्रश्न सही उत्तर चुनकर लिखिए

1. धनराज की पहली ज़िम्मेदारी क्या थी?
(क) परिवार की आर्थिक तंगी दूर करना
(ख) घर वालों को एक बेहतर जिंदगी देना
(ग) क ख दोनों
(घ) कुछ नहीं
उत्तर:
(क) परिवार की आर्थिक तंगी दूर करना

2. धनराज ने अपना पहला फ्लैट कहाँ खरीदा?
(क) मुंबई में
(ख) पवई में
(ग) पुणे में
(घ) दिल्ली में
उत्तर:
(ग) पुणे में

3. बाद में किस सरकार ने धनराज को एक फ्लैट दिया?
(क) महाराष्ट्र सरकार ने
(ख) केन्द्र सरकार ने
(ग) गुजरात सरकार ने
(घ) केरल सरकार ने
उत्तर:
(क) महाराष्ट्र सरकार ने

4. धनराज किस खेल का प्रसिद्ध खिलाड़ी है?
(क) क्रिकेट
(ख) हॉकी
(ग) फुटबॉल
(घ) कबड्डी
उत्तर:
(ख) हॉकी

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज Summary in Hindi

संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज पाठ का सार

यह पाठ साक्षात्कार विधा में रचित है। धनराज पिल्लै हॉकी के प्रसिद्ध खिलाड़ी हैं। जब उनकी आयु 35 वर्ष हो गई तब उनका साक्षात्कार (Interview) विनीता पाण्डेय ने लिया था।

साक्षात्कार का संक्षिप्त रूप इस प्रकार है –
विनीता ने धनराज पिल्ले से पुणे की तंग गलियों से लेकर मुंबई तक के उनके सफर के बारे में पूछा तो धनराज ने बताया कि उनका बचपन मुश्किलों से भरा था। वे बहुत गरीब थे। उनके बड़े भाई हॉकी खेलते थे। उसी से उन्हें भी खेलने का शौक पैदा हुआ, पर तब उनके पास हॉकी की स्टिक खरीदने के लिए पैसे नहीं होते थे अतः वे अपने साथियों से स्टिक माँगकर काम चलाते थे। उन्हें पहली स्टिक उनके भाई ने तब दी जब भाई-भाई को भारतीय कैंप के लिए चुन लिया गया।

वह स्टिक उनके लिए इस दृष्टि से बेशकीमती थी क्योंकि वह उनकी अपनी थी, उन्होंने 1985 में मणिपुर में जूनियर राष्ट्रीय हॉकी खेली थी तब वे 16 साल के दुबले-पतले थे। 1986 में उन्हें सीनियर टीम में डाल दिया गया और वे बोरिया-बिस्तर बाँधकर मुंबई चले आए। उस साल उन्होंने बड़े भाई के साथ मिलकर मुंबई लीग में खूब धूम मचाई। एक साल बाद ही ऑलविन एशिया कप के कैंप के लिए उनका चुनाव हो गया तब से अब तक पीछे मुड़कर नहीं देखा।

फिर विनीता ने उनके विद्यार्थी जीवन के बारे में पूछा। धनराज ने बताया कि वे पढ़ने में एकदम फिसड्डी थे। मुश्किल से दसवीं तक पहुँचा। हॉकी की बदौलत ही उन्हें सब कुछ मिला। जब विनीता ने उनकी तुनकमिजाजी के बारे में पूछा तो धनराज ने उत्तर दिया कि वे बचपन से ही अपने आपको असुरक्षित महसूस करने वाले इंसान रहे हैं। उनकी माँ ने उनके पालने में बहुत संघर्ष किया। वे बिना लाग लपेट के ही अपनी बात कहते हैं। कई बार उन्हें बाद में पछताना पड़ता है पर वे अपना गुस्सा नहीं रोक पाते। वे बहुत भावुक इंसान हैं। वे अपने दोस्तों और परिवार की बहुत कद्र करते हैं।

उनसे पूछा कि उनके लिए उनके परिवार की क्या अहमियत है तो वे बोले- मुझे सबसे अधिक प्रेरणा अपनी माँ से मिली। वे कहीं भी रहें, रोज रात को सोने से पहले माँ से अवश्य बात करते हैं। उनकी सबसे बड़ी भाभी कविता भी उनके लिए माँ के समान है। फिर विनीता ने उनसे पूछा कि उनके पास पहली कार कब आई?

– धनराज ने बताया कि उनकी पहली कार एक सेकेंड हैंड महिंद्रा अरमाड़ा थी जिसे उनके पहले मालिक महिंद्रा ग्रुप ने दिया था। वे तब मुंबई की लोकल ट्रेनों और बसों में सफर करते थे। जब एक अखबार ने उनकी तस्वीर छाप दी तब उन्होंने लोकल ट्रेनों में सफर करने से बचने की बात सोची। धीरे-धीरे पैसे जमा किए। बहन की शादी थी।

अब उनके पास एक फोर्ड आइकॉन है जिसे उन्होंने 2000 में खरीदा था। उसके लिए पाँच लाख रुपये लोन लिया, जिसकी किश्तें वे आज भी चुका रहे हैं। 1964 में उन्होंने पुणे के भाऊ पाटिल रोड पर दो बेडरूम का एक छोटा-सा फ्लैट खरीदा। 1999 में महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें पवई में एक फ्लैट दिया।

धनराज स्वयं मानते हैं कि वे काले और बदसूरत हैं, पर अब लोग उन्हें खेलते हुए देखना पंसद करते हैं। वे अपने देश के लिए खेलना पसंद करते हैं। लोग उन्हें घमंडी समझते हैं जबकि ऐसा नहीं है। सेलेब्रिटीज के साथ एक मंच पर बैठना अच्छा लगता है। राष्ट्रपति से मिलते समय अपने खास होने का अनुभव हुआ। अनेक अभिनेताओं-जैकी श्रॉफ, नाना पाटेकर, प्रेम चोपड़ा, अभिनेत्री रेखा भी उनके प्रशंसकों में हैं। जैकी श्रॉफ ने उनका परिचय जूही चावला से कराया और उसकी तारीफ की।

HBSE 7th Class Hindi Solutions Vasant Chapter 18 संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज

संघर्ष के कराण मैं तुनुकमिज़ाज हो गया धनराज शब्दार्थ

साक्षात्कार = आमने-सामने बातचीत (Interview)। विस्मय = हैरानी (Surprise)। कष्टसाध्य मुश्किलों भरा (Difficult) धीरज = धैर्य (Patience)। दबदबा = रौब (Control)। हिंसक = हिंसा करने वाला (Violence)। संघर्ष = टक्कर लेना (Struggle)। भावुक = भावनाओं में बहने वाला (Emotional)। विनम्रता = नरमी के साथ (With humbly)। कृत्रिम = बनावटी (Artificial)। शोहरत = प्रसिद्धि (Fame)। आर्थिक = धन संबंधी (Financial)। उत्साहित = उत्साह में भर जाना (Excited)। फैन = प्रशंसक (Fan)

Leave a Comment

Your email address will not be published.